अच्छे व्यवहार के लिए सदैव प्रयत्नशील बने रहें

अच्छे व्यापार के लिए ही नहीं अपितु अच्छे व्यवहार के लिए भी सदैव प्रयत्नशील बने रहें। जहाँ अच्छा व्यापार आपको सुखी रखेगा वहीँ अच्छा व्यवहार आपको आंतरिक ख़ुशी प्रदान करेगा।
हमारे जीवन में कई क्लेशों का केवल एक ही कारण है, वह है स्वभाव; कुछ ना हो तो अभाव सताता है। कुछ हो तो भाव सताता है और सब कुछ हो तो फिर स्वभाव सताता है। बुरे स्वभाव से हम आसान चीजों को भी क्लिष्ट बना लेते हैं।
गलत व्यवहार क्रोध, ह्रदय में अशांति और भय पैदा करता है। वाह्य ख़ुशी तो व्यापार दे देगा पर भीतर की प्रसन्नता, आनंद और निर्भीकता तो मधुर व्यवहार ही देगा। व्यपार के लिए ही नहीं व्यवहार के लिए भी चिंतन किया करें।

  • जय श्रीकृष्ण!

One thought on “अच्छे व्यवहार के लिए सदैव प्रयत्नशील बने रहें

  1. Woah! I’m really digging the template/theme of
    this blog. It’s simple, yet effective. A lot of times
    it’s very difficult to get that “perfect balance” between superb usability
    and visual appeal. I must say that you’ve done a fantastic job with this.
    Also, the blog loads extremely fast for me on Firefox.
    Superb Blog! It is appropriate time to make some plans for
    the future and it is time to be happy. I’ve read this post and
    if I could I want to suggest you few interesting things or suggestions.
    Maybe you can write next articles referring to this article.
    I want to read even more things about it! It’s very simple to find out
    any topic on web as compared to textbooks, as I found this
    post at this web page. http://Starbucks.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *